ज़माने के बाद मिले हैं यार…

ज़माने के बाद मिले है यार ,
अब है आठ पहले थे चार ,
थोड़े से बदले है वो , या बदला हु मैं,
ये तो कह न पाऊंगा मैं,
फिर भी जैसे है वो, मेरे अपने है,
पर इतना कह न पौ मैं,
साले समझेंगे मजाक कर रहा है,
बिन पिए बहेक गया है,
पर सच कह रहा हु इस बार,
ज़माने के बाद मिले है यार…
Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Create a free website or blog at WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: