RAFTAAR – रफ़्तार

तेज़ कर रफ़्तार तेरी,
मंजिलें हैं दूर बड़ी,
खामोश… 
हो ना जाए तेरे कदम,
रख हौसला, पहुँचेगा तू,
एक दिन… |

सुन तू बस तेरे दिल की,
दे अगर ना साथ कोई, 
यारा… 
तेरे संग है तेरे कदम,
रख हौसला पहुँचेगा तू,
एक दिन… |

मायूसियों की लहरें,
समंदर तेरे रास्ते,
तूफ़ान ये ग़मों का,भिगोने के है वास्ते,

खींचे कोई तेरा हाथ तो,
मुड़ना नहीं ऐ सनम…
रख हौसला पहुँचेगा तू,
एक दिन… |

होगा तेरा पर्वतों से… सामना,
डर ना जाना कहीं पर,

भटका दे तुझको जो, जीवन की राहें,
बढ़ते रहना दीवाना बनाकर,

खुद से भी करनी पड़ेगी, एक जंग,
लड़ना… लड़ते – लड़ते… मर जाना…. 
हार ना मानना, है कसम…

रख हौसला पहुँचेगा तू,
एक दिन… |

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Create a free website or blog at WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: