Anti Romeo – एंटी रोमियो

anti romeo

वो योगी हैं तो हमें ब्रम्हचर्य का पाठ क्यूँ पढ़ाया जा रहा है।

बात सिर्फ इतनी सी हुई कि एक योगी को उत्तर प्रदेश का महायोगी, अर्थात मुख्य मंत्री बना दिया गया और आते ही उन्होंने समाज के बिगड़ैल यज्ञ में मन्त्र फूँकने शुरू किए। सिर्फ नीतियाँ ही नहीं बनी अपितु, राज्य सरकार से अगले १०० दिनों का चिट्ठा माँगा गया कि वो क्या और कैसे करनेवालें हैं? काम तो चौतरफ़ा शुरू हुआ लेकिन, नज़र में आ गया हमारे प्रदेश का रोमियो। यहाँ वो झल्लाए हुए से हैं कि वो योगी हैं तो हमें ब्रम्हचर्य का पाठ क्यूँ पढ़ाया जा रहा है। बात तो सही भी है उन मनचलों की कि अब मटरगस्ती, लतीफ़ेबाज़ी, रंगबाजी करने में जिनका हुनर ज़माने के सामने प्रस्तुत होता था वो अब कैसे होगा। येबात तो रही रोमियो की लेकिन प्रदेश की जूलिएट, अर्थात लड़कियों का क्या कहना है इस बारे में? तो उन्होंने कहा कि बड़ी राहत है, सच में, वरना इन मनचलों से तो हमारा जीना दुश्वार था।
eve teasing
Anti romeo
चलो कुछ तो हो रहा है योगी जी के आने से, वरना स्त्री रूप को देवी मानने वाले इस देश में, स्त्रियों की इज़्ज़त हमारे इन रोमियो से कभी नहीं हुई। लेकिन उनका क्या जो बालक-बालिका सच में एक दूसरे को पसंद हैं उनका क्या? क्या इन रोमियो की पिसाई में, प्रेमियों का घुन भी पिस जाएगा? अगर ऐसा कुछ हो रहा है तो यह आज़ादी पर हत्कड़ी होगी। और वैसे आजतक देश की पुलिस क्या कर रही थी, या फिर कहीं जनता के तारणहार ही मनचले रोमियो थे क्या? जिन्होंने पुलिसवालों के ही हाथ बाँध रखे थे।
सवाल तो बहुतेरे हैं, मन के तरकश में, ऊपर से हँसानेवाला मामला तब खड़ा होता है, जब एक प्रतिष्ठित वकील शेक्सपियर के नाटक का हवाला देते हुए यह कहता है कि रोमियो ने तो एक जूलिएट से मोहब्बत निभाई थी, कृष्ण तो कई गोपियों को छेड़ा करते थे। तो योगीजी इस मोहिम का नाम क्यों एंटी कृष्ण नहीं दे देते
शायद वकील साहब ने ना ही रोमियो – जूलिएट को पढ़ा, ना ही कृष्ण को समझा कि प्रेम ज़बरदस्ती का नाम नहीं, और यह मोहिम तो इसी ज़बरदस्ती के खिलाफ चलाई जा रही है। हाँ, शायद इसका नाम एंटी मनचले होता तो ज़्यादा बेहतर होता, लेकिन एंटी रोमियो हो, या कृष्ण, या मनचले, व्यवस्था जब बहाल हो रही है तो क्या फर्क पड़ता है कि कौन सा “एंटी” ट्रेंड कर रहा है।
Advertisements

3 thoughts on “Anti Romeo – एंटी रोमियो

Add yours

  1. bilkul shi kha aapne bdi rahat h….haa kuch premiyo ko bhi pissna pda pr apni sehr ki ldkiyo k liye itni kurbani to de hi skte h👍👍👍

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Create a free website or blog at WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: