Honor Killing – HINDI SHORT STORY – आनर किलिंग – लघु कथा

honor killing – hindi short story – rahulrahi.com

“अभी भी दर्द हो रहा है?”

“नहीं… अब नहीं है… तुम्हें?”

“मुझे भी नहीं है अब दर्द… शुरू में हुआ था… फिर तो जैसे सब सुन्न हो गया।”

“हम्म…”

“अगले जनम में तुम ऊँची जात की बनके पैदा होना।”

“अच्छा… और तुम? तुम अगर नीची जात के बन गए तो?”

“दोनों ऊँची जात  के ही बनके पैदा होंगे।”

“तो तुम गरीब और मैं अमीर हुयी तो?”

“दोनों अमीर ही पैदा होंगे या गरीब ही… एक तरह के।”

“फिर कहीं गोत्र एक ही हो गया, तब क्या करोगे?” 

“इँसान बनके प्यार कर पाना बड़ा मुश्किल है… जानवर बनके पैदा होंगे।”

“तुम भी न पूरे बुद्धू हो… जानवर भी भला कहीं प्यार करते हैं।”

गाँव के बाहर पुराने पीपल पर लटकी दो लाशें घंटो ऐसे ही अपने अगले जन्म की प्लानिंग करती रही| जब तक किसी खाकी वर्दी वाले ने आकर उन्हें उतार के ये नही कह दिया, “मामला ऑनर किलिंग का लगता है।”

-विक्रम श्रीवास्तव

hindi stories, Honor Killing, short story, Vikram Shrivastav June 27, 2017 at 03:57PM

Advertisements

5 thoughts on “Honor Killing – HINDI SHORT STORY – आनर किलिंग – लघु कथा

Add yours

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Blog at WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: